दोस्तों जैसे जैसे दुनिया आधुनिक होती जा रही है वैसे ही सब कुछ digitalize होता जा रहा है। और इसी करम मे जैसे

 हमारे पास पैसे होते थे जो हमारे हाथ में या बैंक में होता था। अब पैसे भी digitalize होना शुरू हो चूका है। और बिटकॉइन उसी करम का एक भाग है। क्या हुआ समझ नहीं आया!! आप बिलकुल फ़िक्र न करे इस पुरे आर्टिकल में हम यही जानेंगे की आखिर ये bitcoin kya hai और ये कब बना, बिटकॉइन कैसे काम करती है bitcoin कैसे ख़रीदे और भी कई सारी bitcoin से जुडी जानकारी।


बीते कुछ सालो में bitcoin या अन्य क्रिप्टोकोर्रेंसी का ऐसा खुमार चढ़ा है की आज के समय में हर कोई बिटकॉइन में पैसा निवेश करना चाहता है। और इसमें गलत भी क्या है। bitcoin ने ऐसा कुछ करिश्मा करके ही दिखाया है हमे।


अचंभित न हो लेकिन आपको ये जानकार हैरानी होगी की अगर आपने आज से 10 साल पहले अगर bitcoin में 100 Rs लगाया होता और उसे अभी तक संभाल के रखते तो आज आपके 100 Rs के bitcoin की कीमत करोड़ो से भी ज्यादा होता। शॉक हो गए न 100 rs से करोड़ो रूपए जो बन जाते। मुझे पता है ये जानकार आपकी बेताबी बिटकॉइन के बारे में जानने की और बढ़ चुकी है तो चलिए जानते है bitcoin kya hota hai और कैसे काम करती है।


Bitcoin क्या है | What is Bitcoin in Hindi

Bitcoin एक Cryptographic money है जिसे आप Computerized Cash या Virtual Cash भी कह सकते है। इसके ऊपर किसी का कोई नियंत्रण नहीं होता है जैसे किसी देश के करेंसी पे होता है। ये blockchain innovation पे बना होता है जिसमे इसके सारे exchanges रिकॉर्ड होते है ये एक तरह का Decentralized Money है जिसका मतलब होता है इसे कोई Authority या सरकार control नहीं कर सकता।


Bitcoin को 2009 में Send off किया गया था। दरअसल इसे send off किसने किया ये तो अबतक सामने नहीं आया। लेकिन कहा जाता है की Satoshi Nakamoto ने बिटकॉइन को लांच किया था। Bitcoin के लांच होने का मुख्य उद्देस्य था Online exchange expenses को कम करना और ऑनलाइन ट्रांसक्शन को बेहतर बनाना, जिसे किसी भी देश का सरकार कण्ट्रोल नहीं कर सकता। Bitcoin को और भी ज्यादा Secure बनाने के लिए Cryptography का प्रयोग किया जाता है।


Bitcoin का कोई भी Actual Presence नहीं है। मतलब की इसे आप फिजिकली नहीं देख सकते और ना ही आपके देश के करेंसी के तरह ये आपके पास होती है लेकिन ये आपके computerized wallets में सुरक्षित होता है।


इसमें होने वाले हर exchange बिलकुल ही सुरक्षित होता है क्योकि ये blockchain innovation पे बना होता है। blockchain एक तरह से Record book के तरह काम करती है जिसमे Digital currency के सारे exchange record होते है। और इसे आसानी से कोई भी देख सकता है।





चाहे किसी देश में नोटबंदी हो या कुछ भी इसपे किसी भी चीज़ का प्रभाव नहीं पड़ता, हा market up और down जरूर होता है। लेकिन अगर किसी भी देश में चाहे नोटबंदी ही क्यों न हो जाये वहा बिटकॉइन का exchange जारी रहता है।


बिटकॉइन भले ही आपके पास फिजिकल रूप से ना हो लेकिन फिर भी आप इसे आसानी से ट्रैक कर सकते है और देख सकते है की आपके कॉइन की वैल्यू क्या है और आप इसे आसानी से purchase और sell  कर सकते है। तो आपको अब तो कुछ हदतक समझ आ ही चूका होगा की बिटकॉइन क्या है।

                                              

कितना सुरक्षित है बिटकॉइन

बिटकॉइन को कोई भी नियंत्रित कर सकता है। अब ये जानने से जरूर ये सोचेंगे कि बिटकॉइन का लेनदेन कहीं असुरक्षित तो नहीं है। यहां ये जान लीजिए कि बिटकॉइन की सुरक्षा और भरोसे के लिए जब एक ब्लॉकचेन जोड़ी जाती है तो इसे सभी बिटकॉइन धारकों के बहुमत द्वारा वेरीफाई किया जाता है। और उपयोगकर्ता के वॉलेट और लेनदेन को पहचानने के लिए उपयोग किए जाने वाले विशेष कोड का सही एंक्रिप्शन पैटर्न के अनुरूप होने चाहिए। ये कोड लंबी और रेंडम नंबर वाले होते हैं, जिन्हें कॉपी करना या इनका अंदाजा लगाना कठिन होता है। इस प्रकार ब्लॉकचेन वेरिफिकेशन कोड जो रैंडम नंबर के रूप में होते हैं और प्रत्येक लेनदेन के समय इस्तेमाल किए जाते हैं। किसी भी प्रकार के धोखाधड़ी, फ्रॉड, हैकिंग की संभावना को कम कर देते हैं।

                                                       


बिटकॉइन कैसे खरीदें


ज्यादातर Cash एक्सचेंज के माध्यम से खरीदे बेचे जाते हैं। इसके लिए एक ब्रोकरेज खाता खोलना पड़ता है। इसके अलावा कोइनबेस, क्रैकेन, जैमिनी और रॉबिनहुड ऑनलाइन ब्रोकर है। जिनसे बिटकॉइन ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। इसे स्टोर करने के लिए बिटकॉइन वॉलेट की आवश्यकता होती है। ये दो तरह के होते हैं। Online wallet या Hot wallet और Disconnected wallet या Cold wallet?


ऑनलाइन वॉलेट में एक्सोडस, इलेक्ट्म, माइसलियम शामिल है। कोल्ड वॉलेट या मोबाइल वॉलेट, इंटरनेट से कनेक्ट नहीं होता है। ट्रेजर और लेजर आते हैं। बिटकॉइन को कुछ डॉलर की राशि देकर भी खरीदा जा सकता है। इसके लिए खरीदारी को खनिकों द्वारा सत्यापित किया जाना चाहिए। अपने खाते में बिटकॉइन की खरीदारी करने में 10 से 20 मिनट का समय लगता है।